Daily Current Affairs 2020 हरित पथ: राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ वृक्षारोपण की मॉनिटरिंग के लिए एनएचएआई द्वारा शुरू मोबाइल एप्लीकेशन लांच की गयी | Daily Current Affairs 2020

हरित पथ: राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ वृक्षारोपण की मॉनिटरिंग के लिए एनएचएआई द्वारा शुरू मोबाइल एप्लीकेशन लांच की गयी

Posted by
Subscribe for News Feed

21 अगस्त, 2020 को नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने “हरित पथ” नामक मोबाइल एप्लिकेशन लॉन्च किया। एप्लीकेशन ने विशेषज्ञों के लिए उपयोगकर्ता आईडी बनाना शुरू कर दिया है। अब तक 7,800 पौधों को इस एप्लीकेशन के माध्यम से जियो-टैग किया गया है।

मुख्य बिंदु

विकसित किया गया एप्लीकेशन विकास, स्थान, प्रजातियों के विवरण की निगरानी करेगा और व्यक्तिगत वृक्षारोपण परियोजनाओं द्वारा किए गए लक्ष्यों, उपलब्धियों को बनाए रखेगा। इस एप्लीकेशन को बिग डेटा एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म -डाटा लेक पर लॉन्च किया गया है।

डेटा लेक

यह कच्चे प्रारूप में संग्रहीत डेटा का भंडार है। इसमें संरचित डेटा और परिवर्तित डेटा शामिल हैं। इसमें मुख्य रूप से रिपोर्टिंग और मशीन लर्निंग शामिल है।

हरित भारत संकल्प

मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च करने के अलावा, NHAI ने “हरित भारत संकल्प” नामक देशव्यापी वृक्षारोपण अभियान शुरू किया है। यह पर्यावरण संरक्षण और स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ 25 दिनों में लगभग 25 लाख पौधे लगाए गए थे। इसके साथ, वर्ष के दौरान किए गए वृक्षारोपण की कुल संख्या 35.22 लाख हो गई है।

इस एप्लीकेशन के बारे में

  • पौधों की वृद्धि को ट्रैक करने के लिए, पौधों की तस्वीरें हर तीन महीने में अपलोड की जाएँगी।
  • पौधों के अस्तित्व को सुनिश्चित करने के लिए 1.5 मीटर की न्यूनतम ऊंचाई पर जोर दिया गया है।

महत्व

इस एप्लीकेशन के लॉन्च से देश में हरित राजमार्गों के निर्माण की सुविधा होगी।

 NHAI की रैंकिंग

जुलाई 2020 में, NHAI ने घोषणा की कि यह गुणवत्ता सेवा के आधार पर सड़कों को रैंक प्रदान करेगा। यह राजमार्ग दक्षता, उपयोगकर्ता सेवाओं और राजमार्ग सुरक्षा के आधार पर किया जायेगा। साथ ही बिल्ड, ऑपरेट और ट्रांसफर मॉडल पर अलग-अलग रैंकिंग प्रदान की जायेगी।

भारतमाला परियोजना

2019-20 में, NHAI ने 3,979 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण पूरा किया। यह हासिल किया गया उच्चतम राजमार्ग निर्माण है।  भारतमाला योजना के प्रथम चरण के तहत 2017 और 2022 के बीच 34,800 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण को मंजूरी दी गई है।

हाईलाइट

  • यह योजना मौजूदा गलियारों की दक्षता में सुधार पर काम करती है
  • यह नॉर्थ ईस्ट कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने पर ध्यान केंद्रित है
  • यह पड़ोसी देशों के साथ सहज संपर्क का आह्वान करती है।
  • इस परियोजना के तहत 24 एकीकृत चेक पोस्ट की पहचान की गई।

Source: GK Today

Subscribe for News Feed

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*