केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री परषोत्तम रूपाला और कैलाश चौधरी ने केंद्रीय क्षेत्र योजना की वर्षगांठ पर व्यावसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया | Daily Current Affairs 2021
1xbet 1xbet bahisno1 bahsegel casino siteleri ecopayz güvenilir bahis siteleri canlı bahis siteleri iddaa marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis restbet canlı skor süperbahis mobilbahis marsbahis marsbahis marsbahis marsbahis
bahissenin tipobet betmatik

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री परषोत्तम रूपाला और कैलाश चौधरी ने केंद्रीय क्षेत्र योजना की वर्षगांठ पर व्यावसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया

Posted by
Subscribe for News Feed

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री परषोत्तम रूपाला और कैलाश चौधरी ने 10 हजार कृषि उत्पादक कृषि संगठनों के गठन और संवर्धन विषय पर आयोजित केंद्रीय क्षेत्र योजना की वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित व्यावसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

इस कार्यक्रम को निदेशक बोर्ड, किसान उत्पादक संगठनों के लेखापालों, और मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के लिए आयोजित किया गया। प्रधानमंत्री ने छह हजार आठ सौ 65 करोड़ रुपये के बजटीय प्रावधान की इस योजना का शुभारंभ पिछले वर्ष 29 फरवरी को उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में किया था। श्री रूपला ने नए कृषि उत्पादक संगठनों को कॉर्पोरेट मंत्रालय द्वारा जारी पंजीकरण प्रमाण पत्र भी वितरित किए।

योजना में प्रशिक्षण की बेहतरीन व्यवस्था की गई है। लखनऊ के ग्रामीण विकास बैंक संस्थान, गुरुग्राम की सहकारी अनुसंधान और विकास में कार्य कर रही लक्ष्मणराव इनामदार राष्ट्रीय अकादमी जैसे संस्थानों को प्रमुख प्रशिक्षण संस्थानों के रूप में चुना गया है। भविष्य में कृषि उत्‍पादक संगठनों के क्षमता विकास और प्रशिक्षण के लिए विकास मॉडल विकसित किया गया है।

इस अवसर श्री रूपाला ने कहा कि कृषि उत्पादक संगठनों का गठन मात्र एक योजना नहीं है बल्कि यह भारतीय कृषि को एक नए आयाम देने की ओर एक कदम भी है। 

कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने इस योजना को क्रांतिकारी बताते हुए कहा कि इससे किसानों के जीवन में बड़ा परिवर्तन आएगा। उन्होंने अधिकारियों को सलाह दी की वे इस संबंध में दिशा निर्देशों पर आधारित स्थानीय भाषाओं में एक पॉकेट बुक बनाए ताकि अधिक से अधिक किसान, कृषि उत्पादक संगठनों के बारे में जानकारी हासिल कर सके। 

कृषि सचिव संजय अग्रवाल ने कहा कि प्रत्येक ब्लॉक में एक एफपीओ होना चाहिए जो संस्थागत बुनियादी ढांचे के लिए प्रेरक का कार्य करें।

Source: News On Air

Subscribe for News Feed