एशिया के सबसे बड़े सोलर प्लांट का PM मोदी करेंगे उद्घाटन, जानिए क्या है इसकी खासियत | Daily Current Affairs 2021
onwin giriş

एशिया के सबसे बड़े सोलर प्लांट का PM मोदी करेंगे उद्घाटन, जानिए क्या है इसकी खासियत

Posted by
Subscribe for News Feed

रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्लांट (inaugurate Rewa Ultra Mega Solar Plant) का पीएम मोदी (pm modi) 10 जुलाई को वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए उद्घाटन करेंगे। यह एशिया का सबसे बड़ा सौर उर्जा प्लांट है। यहां से दिल्ली मेट्रो पर बिजली खरीदती है। सोलर प्लांट से 750 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है।

हाइलाइट्स

  • रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्लांट का पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन
  • 10 जुलाई को वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए पीएम कार्यक्रम में होंगे शामिल
  • यहां से दिल्ली मेट्रो को भी सप्लाई होती है बिजली
  • रीवा जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर गुढ़ में है यह प्लांट

रीवा
एमपी के रीवा में एशिया का सबसे बड़ा सोलर प्लांट है। 10 जुलाई को पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन करेंगे। रीवा सोलर प्लांट से दिल्ली मेट्रो को भी बिजली सप्लाई होती है। इसकी क्षमता 750 मेगावट बिजली उत्पादन का है। यह प्लांट रीवा जिला मुख्यालय 25 किलोमीटर दूर गुढ़ में स्थापित है। पीएम के कार्यक्रम से पहले यहां तैयारी शुरू हो गई।
दरअसल, सीएम शिवराज सिंह चौहान दिल्ली दौरे पर गए हुए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में स्थापित रीवा अल्ट्रा मेरा सौर परियोजना को पीएम मोदी वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए 10 जुलाई को लोकार्पण करेंगे। पीएम मोदी ने इसके लिए पिछले दिनों स्वीकृति दे दी है। वहीं, इसे लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को केंद्रीय उर्जा मंत्री राजकुमार सिंह से भी मुलाकात की है और रीवा सोलर पॉवर प्लांट को लेकर चर्चा की है।

क्या है इसकी खासियत
एमपी के रीवा जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर गुढ़ में 1590 एकड़ में यह सोलर प्लांट है। जनवरी 2020 में ही 750 मेगावाट की क्षमता के साथ यह चालू हो गया है। लेकिन पीएम मोदी से टाइम नहीं मिलने की वजह से आज तक इसका लोकार्पण नहीं हो पाया था। अब पीएम मोदी 10 जुलाई को इसे राष्ट्र को समर्पित करेंगे। यह रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड, एमपी उर्जा विकास निगम लिमिटेड और भारत की सौर उर्जा निगम की एक ज्वाइंट वेंचर है।

दिल्ली मेट्रो को मिलेगी बिजली
यहां से उत्पादित 24 फीसदी बिजली दिल्ली मेट्रो को बेची जाएगी। दिल्ली मेट्रो को यहां से 2.97 रुपये प्रति यूनिट के दर से बिजली मिलती है। तत्कालीन केंद्रीय नगर विकास मंत्री वेंकैया नायडू की मौजूदगी में 2017 में इसके लिए एमओयू हुआ था।

तीन यूनिट
प्लांट के अंदर सौर उर्जा से बिजली उत्पादन के लिए 3 यूनिट हैं। तीनों इकाइयों से 250-250 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा। 2018 से ही यहां बिजली का उत्पादन शुरू हो गया था। जनवरी 2020 से सोलर पावर प्लांट ने अपनी पूरी क्षमता के साथ बिजली का उत्पादन शुरू कर दिया है। इस परियोजना के शुरू हो जाने के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रीवा का नाम स्थापित होगा।

Source: Navbharattimes

Subscribe for News Feed